-->

Our Lineage

Siddh Rakkha Ramji was a spiritually elevated master. He first took initiation from Siddh Tundi Laat Ji . Siddh Tundi Laat Ji belonged to the Nath Tradition. He had many followers from Muslim community as well. Once there was a commotion from his Muslim followers that he loves his Hindu followers more than them and in reply to this commotion Siddh Tundi Laat Ji said that the whole commotion was indeed nothing but an illusion and there is no such feeling in his heart , he loves all of them equally. Then the muslim followers asked Siddh Tundi Laat Ji if he would read Kalma and accept Islaam. Siddh Tundi Laat Ji, being above the petty veils of differences created in the name of religion, went to Sher-e-Shah Wali Ji for reading Kalma and accepted Islaam.

Sher-e-Shah Wali Ji was a spiritually elevated faqir , who belonged to the famous 7th Kaadri tradition. When Siddh Tundi Laat Ji accepted Islaam, he instructed Siddh Rakkha Ramji to procced on with Aghor Pir Baba Namonath Ji on the path of Nath tradition and spread it far into the masses. Siddh Rakkha Ramji abided to his master’s orders and went to Aghor Pir Baba Namonath Ji! Here we’re enlisting down the lineage from both – Baba Namonath Ji and Siddh Tundi Laat Ji . Siddh Rakkha Ramji took both of the Spiritual Masters as his own spiritual masters and was instructed under their guidance.

सिद्ध रक्खा रामजी एक पहुंचे हुए सिद्ध थे ! उन्होंने सर्व प्रथम सिद्ध टुंडी लाट जी से दीक्षा ली ! सिद्ध टुंडी लाट जी नाथ सम्प्रदाय से सम्बन्ध रखते थे ! उनके बहुत से शिष्य मुस्लिम भी थे ! एक बार उनके मुस्लिम शिष्यों ने कहा कि आप हमसे ज्यादा प्रेम अपने हिंदू शिष्यों से करते है तो सिद्ध टुंडी लाट जी ने कहा कि ऐसा नहीं है ! मैं हिंदू और मुस्लिम में कोई भेद-भाव नहीं समझता, यह सुनकर उनके मुस्लिम शिष्यों ने कहा कि यदि ऐसी बात है तो आप कलमा पढ़ ले और इस्लाम कबुल कर ले ! भेद-भाव से ऊपर सिद्ध टुंडी लाट जी ने शेर-ऐ-शाह वली जी के पास जाकर कलमा पढ़कर इस्लाम कबुल कर लिया !

शेर-ऐ-शाह वली एक पहुंचे हुए फकीर थे , उनका सम्बन्ध सातवे कादरी खानदान से था ! जब सिद्ध टुंडी लाट जी ने इस्लाम कबुल किया तो उन्होंने सिद्ध रक्खा रामजी से कहा कि मैंने इस्लाम कबुल कर लिया , अब आप अघोर पीर बाबा नमोनाथ जी के पास जाएँ और नाथ सम्प्रदाय की इस महान परम्परा को आगे बढाएं ! सिद्ध रक्खा रामजी गुरु आज्ञा का पालन करते हुए अघोर पीर बाबा नमोनाथ जी के पास गए ! यहाँ हम बाबा नमोनाथ जी और सिद्ध टुंडी लाट जी की गुरु प्रणाली लिख रहे है ! सिद्ध रक्खा रामजी दोनों को ही अपना गुरु मानते थे !

 

Islamic Shijjra

Prophet Mohammad

Shah Hajrat Ali

Sheikh Khwaja Hassan Basri

Sheikh Habib Ajmi

Sheikh Dauda Taai

Sheikh Maroof Karkhi

Sheikh Sari Shikti

Sheikh Junaid-al-Baghdadi

Sheikh Abu Bakr Shibli

Sheikh Abdul Ajeej-al-Jamni

Sheikh Abu-al-Wahid-al-Tamimi

Sheikh Abdul-al-Faratusi

Sheikh Abu-al-Hassan-Hkaari

Sheikh Abu-Sayeed-Marmak Dumi

Sheikh Abdul Kadir Jilani (Gaus Pak)

Sheikh Sayeed-Abdul-Whaab

Sheikh Abu Naasar

Sheikh Sayeed-Sufi

Shah Msaahud

Shah Karam Ali

Shah Shammadeen

Hajrat Mohammad Gaus Wale-e-Peer

Nath Lineage

Sayeed Mubarak

Aadinath ( Lord Shiva )

Sayeed Maroof

Mahayogi Dada GuruMatsyendranath Ji

Shah Suleiman Noori

Shiv Gorakshnath Ji

Haadi Nau Sau Ganj Baksh

Aayi Mata Vimla Devi (Nepal)

Peer Mohammad Suchiyaar

Nirmayinath Ji

Shah Waqte Jmaal

Shri Shri Shri 1008 Baba Mastnath Ji (Bohar)

Ghulaam Mustafa

Shri Shri Shri 1008 Baba Ranpatnath Maan Dhata Ji

Ramzaan Shah

Shri Shri Shri 1008 Baba Budhnath Ji

Saudagar Shah

Shri Shri Shri 1008 Baba Yaadramnath Ji

Jumme Shah

Shri Shri Shri 1008 Baba Babbarnath Ji

Rele Shah

Aghor Pir Mahtanath Ji

Sohne Shah

Aghor Pir Shaadinath Ji

Sher-e-Shah Wali

Aghor Pir Namonath Ji

Tundi Laat Maskin Shah

(Siddh Tundi Laat Ji)

Siddh Rakkha Ramji ( Aghor Pir )

 

 

 

इस्लामिक शजरा

पैगम्बर मुहम्मद

शाह हजरत अली

शेख ख्वाजा हसन बसरी

शेख हबीब अजमी

शेख दाउदा ताई

शेख मारूफ करखी

शेख सरी शिकती

शेख जुनैद-अल-बगदादी

शेख अबू बकर शिबली

शेख अब्दुल अजीज-अल-जमनी

शेख अबू-अल-वाहिद-अल-तमीमी

शेख अब्दुल-अल-फरातुसी

शेख अबू-अल-हसन-हकारी

शेख अबू-सईद-मरमक दुमी

शेख अब्दुल कादिर जिलानी ( गौस पाक )

शेख सईद-अब्दुल-वहाब

शेख अबू नासर

शेख सईद-सूफी

शाह मसाहूद

शाह करम अली

शाह शम्मादीन

हजरत मुहम्मद गौस वाल-ऐ-पीर

नाथ परम्परा

सईद मुबारक

आदिनाथ ( भगवान शिव )

सईद मारूफ

दादा गुरु मतस्येंद्र नाथ

शाह सुलेमान नूरी

गुरु गोरक्षनाथ

हादी नौ सौ गंज बक्श

आई माता विमला देवी ( नेपाल )

पीर मुहम्मद सचीयार

निरमाई जी

शाह वक्ते जमाल

श्री श्री श्री १००८ बाबा मस्तनाथजी महाराज (बोहर)

गुलाम मुस्तफा

श्री श्री श्री १००८ बाबा रणपतनाथ मान धाता जी

रमजान शाह

श्री श्री श्री १००८ बाबा बुधनाथ जी

सौदागर शाह

श्री श्री श्री १००८ बाबा यादरामनाथ जी

जुम्मे शाह

श्री श्री श्री १००८ बाबा बब्बरनाथ जी

रेले शाह

अघोर पीर महतानाथ जी

सोहने शाह

अघोर पीर शादीनाथ जी

शेर-ऐ-शाह वली

अघोर पीर नमोनाथ जी

टुंडी लाट मसकीन शाह ( सिद्ध टुंडी लाट जी )

सिद्ध रक्खा राम ( अघोर पीर )

 

 

Tag Cloud